एक योगी की कहानी -: कल रात से कहाँ था रे तू ? यह क्या गेंहुआ अँगोछा पहन के आया है ? तेरी अम्मा पूरी रात पहाड़ियों में ढूंढ ढूंढकर पागल हुए जा रही है और तू कहाँ भाग गया था ? अजय चुपचाप पिता की डांट सुनता रहा।